Tuesday, 3 April 2012

ब्रह्म अस्त्र हमारे पास


समाज में बुराई फ़ैलाने वाले हर सीरियल और हर  विज्ञापन का दिखाया जाना या न दिखाया  जाना हमारे और सिर्फ हमारे हाथ में है ,ब्रह्म अस्त्र हमारे पास है और हम कहते है ,हम कर ही क्या सकते है

इन सब के खिलाफ आवाज़ उठने का सब से सार्थक और सरल  तरीका यदि हम सब सीख जाए तो किसी भी
अर्थहीन और समाज का भ्रमित करने वाले और परिवारों को गलत संस्कार देने वाले सीरियल और विज्ञापन
बंद हो सकते है और वो ताकत हम सब के पास होते हुए भी हम अनजान है उस से ,आवश्कता है जागरूक होने की,कोई भी विज्ञापन  या सीरियल या कोई भी अन्य कार्यक्रम उस की TRP बढने या घटने से सफल या
असफल होता है और TRP बढती है उस कार्यक्रम के देखे जाने से ,हम लोग कहते है ये सब गलत दिखाया जा
रहा है पर उसे देखते है ,बस गलती हम से यहीं होती है ,जो हमारे समाज और परिवार के लिए सही नहीं उसे
देखना बंद कीजिये,जब भी ऐसी कोई चीज दिखाई दे फौरन चैनल बदल दीजिये ,इससे उस कार्यक्रम या
विज्ञापन की TRP गिरेगी और उसे बनाने वाले समझ जायेगे के जो वो दिखा रहे है वो पसंद नहीं किया जा रहा.
 कितने घरों में कौन सा कार्यक्रम देखा जा रहा है इस सब की खबर आधुनिक तकनीक से इन्हें बनाने वालों तक
आसानी से पहुच जाती है और इस के ही आधार पर (TV Ratings Points.) TRP तय की जाती है . 
  अच्छे और  समाज को सही दिशा देने वाले कार्यक्रम को देखिये उस की TRP बढाइये ,  फिर देखिये कैसे बदलता है ये माहौल  .

12 comments:

  1. sarthak prayas ki or ingit kiya hae aapne ,yadi aesa ho jaye to ...........

    ReplyDelete
  2. सही है...प्रयास तो हम सबको ही करना होगा...

    ReplyDelete
  3. सार्थक व सटीक बात कही है आपने ... पूर्णत: सहमत हूं आपकी इस बात से ...

    कल 04/04/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.

    आपके सुझावों का स्वागत है .धन्यवाद!


    ... अच्छे लोग मेरा पीछा करते हैं .... ...

    ReplyDelete
  4. सौ प्रतिशत सहमत हूँ इस विचार से.

    स्वागत योग्य.

    ReplyDelete
  5. वाह बहुत उम्दा प्रस्तुति!
    अब शायद 3-4 दिन किसी भी ब्लॉग पर आना न हो पाये!
    उत्तराखण्ड सरकार में दायित्व पाने के लिए भाग-दौड़ में लगा हूँ!
    बृहस्पतिवार-शुक्रवार को दिल्ली में ही रहूँगा!

    ReplyDelete
  6. संदेश देखने का आसान तरीका..

    ReplyDelete
  7. सुन्दर प्रस्तुति। मेरे नए पोस्ट पर आपका इंतजार रहेगा । धन्यवाद ।
    http://vangaydinesh.blogspot.in/2012/02/blog-post_25.html
    http://dineshpareek19.blogspot.in/2012/03/blog-post_12.html

    ReplyDelete
  8. ये प्रयास सभी मिल के करें तो कुछ बात बने .. सार्थक चिंतन ...

    ReplyDelete
  9. सही कह रही हैं आप । सब करें तो हो ।

    ReplyDelete
  10. मैं तो ऐसा ही करता हूँ| बाकी लोग भी साथ दें तो...

    ReplyDelete